Letest sharab on shayari in hindi | शराब पर शायरी

  shayari on sharab| sharab ki shayari in hindi   

                                                                                                            

  Hello everyone you read our shayari on sharab collection.more shayari hindi ,romantic shayari.sad shayari.motivational shayari.two line shayari,love shayari for girlfriend,shayari status ,quotes download etc.read more

             


shayari on sharab
shayari on sharab image


                                                                      
शराब शायरी
              

Abhi dil bhara nahi uska ....Abhi dil bhara nahi uska ,

abhi to  jooth baaki hai ...

kal wali sharab lao usme abhi do ghoot baaki hai ...

अभी दिल नहीं भरा उसका... अभी दिल नहीं भरा उसका,

    अभी तो झूठ बाकी है ,

कल वाली  शराब लाओ उसमे अभी दो घुट बाकी  है .... 

sharab shayari urdu

  • ''Sharab peene de masjid me baith kar ,

Ya wo jagah bata jahaa par khuda nahi''

शराब पीने दे मस्जिद में बैठ कर ,

या वो जगह बता जहा पर खुदा नहीं ''


  • ''masjid khuda ka ghar hai , 

koi peene ki jagah nahi ,

kaafir ke dil me jaa...waha par khuda  nahi''

मस्जिद खुदा कर घर है  ,

कोई पीने की जगह नहीं ,

काफिर के दिल में जा वह पर खुदा नहीं ''


  • ''kafir ke dil se aaya hoo......

 mai ye dekh kar waha par jagah nahi ,

khuda moujood hai waha bhi ,kafir ko pataa nahi''

काफिर के दिल से आया हूँ ,

मैं ये देख कर वह पर जगह नहीं ,

खुदा मौजूद है वह भी काफिर को पता नहीं 

Read more

  • ''khuda moujood hai poori duniya mai ,

kahi bhi jagah nahi ,

tu jannat me jaa....waha peena mana nahi''

''खुदा मौजूद है पूरी दुनिया में कही भी जगह नहीं ,

तू जन्नत में जा वहा  पीना मना नहीं ,''


  • ''peeta hoo Gam-E-Duniya bhulane ke liye aur kuch nahi ,

jannat me kaha gam hai waha peene mai maja nahi''

''पीता हूँ  गम - ऐ - दुनिया भुलाने के लिए और कुछ नहीं ,

जन्नत में कहा  गम है  वहा पीने में मजा नहीं ''


  • ''Ham peete hai maje ke liye bewajah badnaam gam hai ,

poori botal peekar dekho fir duniya kya jannnat se kam hai''

''हम पीते है मजे के लिए बेवजह बदनाम गम है ,

पूरी बोतल पीकर देखो फिर दुनिया क्या जन्नत से कम है ''

Read more..

sharab sher o shayari in hindi 


Ab baago mai titliya bhi nazar nahi aa rahi hai ,

 wo kis haal mai hai ...kahi se khabar  nahi aa rahi hai ...

tanha hokar is trah khud ko sambhaal raha hoo,

abhi sharab nikaal kar rakhi thi nazar nahi aa rahi hai...

''अब बागो में तितलियाँ भी नज़र नहीं आ रही ,

वो किस हाल में है...👉.. कही से खबर नहीं आ रही ,

तनहा होकर इस तरह खुद को संभाल रहा हूँ ,

अभी शराब निकाल कर रखी थी नज़र नहीं आ रही है ''.....


esi garmi hai baahar ki kuch thanda pilaiye,

or agar aap paani bhi la rahe hai ,,

to usme thodi sharab milaiye .....

''ऐसी गर्मी है की बाहर की कुछ ठण्डा पिलाये ,

ओर अगर आप पानी भी ला रही  है ,

तो उसमे थोड़ी शराब मिलाये ''


  • ''Me tujhse behat  pyar karta hoo .

is baat ke saboot mere se jyada tere pas hai ''

''मै तुझे बेहत प्यार करता हूँ ,

इस बात के सबूत मेरे से तेरे पास ज्यादा है ,''


  • ''me tujhe har haal me apna banana chaahta hoo ,

kyuki tu mere liye sabse khaas hai ,

tujhse pyar paane ki umeed mai hi ,

chalati meri har ek saas hai ''

''मै तुझे हर हाल में अपना बनाना चाहता हूँ ,

क्यूँ  की तू मेरे लिए सबसे खास है ,

तुझसे प्यार पाने की उम्मीद में ही ,

चलती मेरी हर एक सास है ''


  • ''or tere pyar ke bina ye ashiq ...

bas ek zinda laash hai ,

aa dede aag is chita ko ,

or de de thandak har ek ko... jo mere khilaf hai ''

''और तेरे प्यार के बिना ये इश्क़ बस एक ज़िंदा लाश है ,

आ देदे आग इस चिता को ,

और देदे ठंडक हर एक को जो मेरे खिलाफ है ''


  • ''tujhe mere se jyada koi kush nahi rakh sakta ,

ye baat Aine ki trah saaf hai ,

aaj meri aankho me aanso ...

shayad kisi ke liye majaak ho ,

ye har dard me nikal padte hai ,

jaise jalti chita se ban rahi aag ho''

''तुझे मेरे से ज्यादा कोई खुश नहीं रख सकता ,

ये बात आईने की तरह साफ है ,

आज मेरी आँखों में आँसू शायद किसी के लिए मजाक हो ,

ये हर दर्द में निकल पड़ते है जैसे जलती चिता से बन रही आग हो ''

Read more

  • ''shayad tune bhi zindagi me kisi ko ...

mujhse behatar paaya hoga ,

yaa ho sakta hai ....

kisi ne tujhe bhi dard deke rulaya hoga '''

''शायद तूने भी ज़िन्दगी में मुझसे बेहतर पाया होगा ,

     या हो सकता है ,

किसी ने तुझे भी दर्द देके रुलाया होगा'' 


  • ''par ye waada hai ..

tere har ek aansoo ki keemat,

apne pyar se chukaunga mai ,

ab tu marne ki sajaa bhi dede mujhe ,

teri khushi ke liye mar bhi jaunga mai''

''पर ये क़वायदा है तेरे घर एक आँसू की कीमत ,

अपने [प्यार से चुकाऊंगा मै ,

अब तू मरने की सजा भी देदे मुझे ,

तेरी ख़ुशी के लिए मर भी जाऊंगा मै ''


  • ''chaaha to tujhe laakho ne hoga ,

par teri har ek baat sirf mai hi samajh paaya hoo ,

tadpaana to har kisi ne chaaha hai mujhe ,

lekin me to bas tere ishq ka sataaya hoo ''

''चाहा तो तुझे लाखो ने होगा ,

पर तेरी हर एक बात सिर्फ मै ही समझ पाया हूँ ,

तड़पाना तो हर किसी ने चाहा है मुझे ,

लेकिन मै तो बस तेरे इश्क़ का सताया हूँ''


  • ''tu chaahe jitna bhi gussa kar le mujhpe ,

par mera pyar kabhi kam na hoga ,

meri trah koi sath dede...

esa koi hamdum hoga ''

''तू चाहे जितना भी गुस्सा कर ले मुझपे ,

पर मेरा प्यार कभी काम न होगा ,

मेरी तरह कोई साथ देदे ऐसा कोई हमदम होगा ''


  • ''teri choti si choti narazagi ,

mujhe tadpa tadpa kar rula rahi hai ,

tu meri na hone ki soche ...to samajh lena ,

mujhe mout ki neend sula rahi hai ''........

''तेरी छोटी सी छोटी नाराजगी ,

मुझे तड़पा तड़पा कर रुला रही है ,

तू मेरी न होने की सोचे तो समझ लेना ,

मुझे मौत की नींद  सुला रही है ''

Read more


meri jaan jism se nikal jaaye ....kya fark padta hai ,

tu mere shahar se hokar guzar jaaye kya fark padta hai ,

or esa  haal hai ki peene ko paani nahi ,

aaj bin paani ke piyenge kya fark padtaa hai ...

''मेरी जान  जिस्म से निकल जाए क्या फर्क पड़ता है ,

तू मेरे शहर से होकर गुज़र जाए क्या फर्क पड़ता है ,

और ऐसा हाल है की पीने को पानी नहीं ,

आज बिन पानी के ही पिएंगे क्या फर्क पड़ता है ''



nasha shayari.....

Jo aankhe choomati thi mujhe sulaane ke liye ,

usne jyada der nahi ki inhe rulaane ke liye ,

or konsa gunha kiya maine koi to bataaye ,

mujhe sharab peeni pad rahi hai..💔 use bhulaane ke liye ...

''जो आखे चूमती थी..💑.. मुझे सुलाने के लिए ,

उसने ज्यादा देर नहीं की इन्हे..😂.. रुलाने के लिए ,

और कोण सा गुन्हा किया कोई तो बताये ,

मुझे शराब पीनी पड़ रही है उसे भुलाने के लिये ''



  • '' kabhi socha na tha..😡..itna bikhar jaunga ,

sharab piunga ....fir nashe me ghar jaunga ,

or mere khwaabo ko todkar ...''

''कभी सोचा न था इतना बिखर जाऊंगा ,

शराब पियूँगा फिर नशे में घर जाऊंगा ,

और मेरे खवाबो को तोड़कर।... ----


  • ''gair ki baaho mai apne khwab sajaa rahi thi ,

Ro ke guzri hai wo raat ...us raat ko suhaani btao kya ,

dard tadpaata hai to chalaa jaata hoo mehkhane ,

peeta hoo sharab ....is duniya ke dar se paani batau kya....''

----गैर की बाहो में अपने ख्वाब सजा रही थी ,

रो के गुज़री है वो रात उस रात को सुहानी बताऊ क्या ,

दर्द तड़पता है तो चला जाता हूँ मेह्खाने 

पीता  हूँ शराब इस दुनिया के डर से पानी बताऊ क्या ''


शराब शायरी.....


sharab ki shayari in hindi

                                                   sharab ki shayari in hindi image    



mohabbat ko bura kyu kahoo ,

jab kismat hi meri kharab hai ,

wo jaa rahi to jaane do ,

mere paas meri sharab hai ....

''मोहब्बत को बुरा क्यों कहूँ ,

जब किस्मत ही मेरी ख़राब है ,

वो जा रही है तो जाने दो ,

मेरे पास मेरी शराब है ....''


  • ''Aankho ka dariya nichodana behatar samjha ,

kafan se to chaadar odhana behatar samjha ,

usne yaar sharab chodane ko kah diya ek din,

maine usko chhodana behtar samjha ,''

''आँखों का दरिया निचोड़ना बेहतर समझा ,

कफ़न से तो चादर ओढ़ना बेहतर समझा  ,

उसने यार शराब छोड़ने को कह दिया एक दिन ,

मैंने उसको छोड़ना बेहतर समझा ----


  • ''or isi liye puraani dilruba par likhi ghazale suna rahe hai ,

sharab se ab is kadar mohabbat kar chuke hai hum ,

aaj kal dil khol kar paisa maikashi mai udaa rahe hai ...''

---और इसी लिये पुरानी दिलरुबा पर लिखी गज़ले सुना रहे है ,

शराब से अब इस कदर मोहब्बत कर चुके है हम ,

आज कल दिल खोल के पैसा मैकशी में उड़ा  रहे है .....''

Read more

Har nasha sharab nahi hota ,

har kaante waala phool gulaab nahi hota ,

tum mujhse mohabbat karne mai itna darti kyu ho ,

Kisi shayari ki mohabbat banna itna khraab nahi hota ...

''हर नशा शराब नहीं होता ,

हर काटे वाला फूल गुलाब नहीं होता ,

तुम मुझे मोहब्बत करने में इतना डरती  क्युँ हो ,

किसी शायरी की मोहब्बत बनना इतना ख़राब नहीं होता ......''


शराब पर शायरी...

Auro ke liya gunaah sahi ,

hum piye to sharab banti hai ,

Are 100 gamo ko nichodane ke baad ,

ek katra sharab banti hai ...

औरो के लिए गुनाह सही ,

हम पिए तो शराब बनती है ,

और सौ गमो को निचोड़ने के बाद ,

         एक कतरा शराब बनती है .....''


  • ''Bas hum rahenge hosh mai ,

baaki sab madhos ho jayenge ,

kabhi baitho hamaari mehafil mai ,

jaam se jaam takrayenge ,''

''बस हम रहेंगे होश में ,

बाकि सब मदहोश हो जायेंगे ,

कभी बैठो हमारी महफ़िल में ,

जाम  से जाम  टकराएंगे ,----


  • ''or saahab kitni pee sakte ho tum btaado hume ,

hamari na pucho poora maikhana ghatak jayenge ...

nasha sirf sharab mai nahi hai .💓..kya tumhe pta hai ,

      Ishq karke dekho tote ud jayenge ........''

---और साहब कितनी पी सकते हो तुम बतादो हमें ,

हमारी न पूछो पूरा मैखाना घातक जायेंगे ,

नशा सिर्फ शराब में नहीं है    क्या तुम्हे पता नहीं 

        इश्क़ करके देखो तोते उड़ जायेंगे ......''


sharab ki shayari in hindi ......

sharab honto se lagaye baitha hu ,

dard dil me chhupaye baitha hu ,

ajeeb mohabbat hai teri bhi ,

maikhaane me bhi teri tasweer lagaye baitha hu ...

''शराब होठो से लगाए बैठा हूँ ,

दर्द दिल में छुपाये बैठा हूँ ,

अजीब मोहब्बत है  तेरी भी 

मेह्खाने में भी तेरी तस्वीर लगाए बैठा हूँ .....'''


main janta hu buri hai ye aadat ,

magar isi aadat se..main duniya bhulaye baitha hu ,

kabhi nafarat mujhe bhi thi mehkhane se ,

dekho aaj wahi nafarat jagaye baitha hu ....

मै जनता हूँ बुरी है ये आदत ,

मगर इसी आदत से मै दुनिया भुलाये बैठा हूँ ,

कभी  नफ़रत मुझे भी थी मेह्खाने से ,

देखो आज वही नफरत जगाये बैठा हूँ ......'''



kabhi tubhi thi saath mere ,

aaj main khud ko hi akela paaye baitha hu ,

ho sake to laut aa dekh ,

main khud ko hi bhulaye baitha hu ....

कभी तूभी थी साथ मेरे ,

आज मै खुद को ही अकेला पाए बैठा हूँ ,

हो सके तो लौट आ देख ,

मै  खुद को ही भुलाये बैठा हूँ .....'''

Read more shayaris

sharab shayari funny....

maine gilas main paani kam ,

sharab thodi jyada li hai ,

hosh me akar maine usse baat ki  hai ,

ye mohabbat ka paath to maine padhaya tha tumhe ,

ye dil todne ki coching..💔..kaha se li hai ...

मेने गिलास में पानी कम ,

शराब थोड़ी ज्यादा ली है ,

होश में आकर मैंने उससे बात की है ,

ये मोहब्बत का पाठ जो मैंने पढ़ाया था तुम्हे ,

ये दिल तोड़ने की कोचिंग कहा से ली है ....'''



daru shayari...

nasha nahi karta galat sun liya tumne ,

me guroor nahi karta galat sun liya tumne ,

aur nasha manzil ka hai...guroor imaan ka ,

mujhe kharidne chale ho... 💪..  galat sun litya tumne ...

नशा नहीं करता गलत सुन लिया तुमने ,

मै गुरूर नहीं करता गलत सुन लिया तुमने ,

और नशा मंज़िल का है     गुरूर ईमान का ,

मुझे खरीदने चले हो.... 💔... गलत सुन लिया तुमने ....''''


sharab shayari 2 lines

Na zakham bhare ...Na sharab sahara hui ,

Na wo wapas louti...Na mohabbat dubara hui ...

ना जखम भरे  ना शराब सहारा हुई ,

ना वो वापस लौटी ...👧..  ना मोहब्बत दुबारा हुई ....'''



   previous                                                               next



Post a Comment

0 Comments