latest maa shayari with status-नई माँ शायरी

                  MAA SHAYARI |''माँ'' शायरी 





You all are welcome on this heart touching edition of  Maa Shayari. Mother cannot be said in words because there is no word smaller than mother and there is no one bigger than mother.

माँ शायरी के इस दिल को छूने वाले संस्करण पर आप सभी का स्वागत है। माँ को शब्दों में नहीं कहा जा सकता है क्योंकि माँ से छोटा कोई शब्द नहीं है और माँ से बड़ा कोई नहीं है।

                                        

We have tried this collection of shayari on maa to show the priceless love of mother, please share this maa par shayari ko facebook, twitter, instagram, whatsapp, and your friends.

माँ के अनमोल प्यार को दर्शाने के लिए हमने माँ पर शायरी के इस संग्रह को आज़माया है, कृपया इस माँ par shayari ko facebook, twitter, instagram, whatsapp, और अपने दोस्तों को शेयर करें।

 

To subscribe to our collection of all such best shayari, subscribe to us. There is a collection of romantic shayari , hindi shayari, two line shayari, motivational shayari, attitude shayari, dosti shayari or sayri ki dayri etc.

ऐसे ही सभी बेहतरीन शायरी के हमारे संग्रह के लिए हमें सब्सक्राइब करें। इसमें रोमांटिक शायरी, हिंदी शायरी, दो लाइन शायरी, motivational shayari, attitude shayari , दोस्ती शायरी या sayari ki dayri आदि का संग्रह है।



''माँ ''💗 haert touching speech 

                 mom shayari
                     mom shayari image 

maa shayari ......

माँ  तो माँ होती है ,
वो माँ ही है जिसके  रहते ज़िन्दगी में कोई गम नहीं होता ''
 दुनिया साथ दे न दे ,
पर ''माँ''💗 का प्यार कभी काम नहीं होता ''




ये कैसे दिन आ गये है यारो ,
जब हमें बोलना नहीं आता था तो माँ समझ जाती थी ,
आज हम हर बात पर कहते है ,
की ''माँ''💗 तू नहीं समझेगी ''..... 




''हर रिश्ते में मिलावट देखी ,
कच्चे रंगो की सजावट देखी ,
लेकिन सालो साल देखा हैं उस माँ को ,
उनके चेहरे पर ना थकावट देखी 
न ममता में मिलावट देखी ''





''आज फिर गुज़रा ज़माना याद आता है 
आज मुझे घर का ''खाना'😭' याद आता है ,
 दिन भर की थकावट जब भूख में बदलती है 
वो प्यार से माँ का खिलाना याद आता है ''






मेरी खातिर तेरा ''रोटी''😓 पकाना याद आता है ,
अपने हाथो को चूल्हे में जलाना💟 याद आता है ,
वो डाट- डाट कर ''खाना'' खिलाना याद आता है ,
मेरे वास्ते तेरा पैसे बचाना याद आता है ''





कही हो न जाए घर की मुसीबत मुझको मालूम 
छुपकर तकलीफे तेरा मुस्कुराना याद आता है। .... 

maa shayari 2 lines 


मेरी तक़दीर में कोई गम ना होता ,
अगर ''तकदीर'' लिखने का हक़ मेरी माँ को  होता। ... 



तेरे डिब्बे की वो दो रोटियां कही बिकती नहीं माँ ,
महंगे होटलो में आज भूख मिटती नहीं माँ ,,,,,


maa ke liye shayari

भरे घर में तेरी आहाट  मिलती नहीं माँ ,
तेरी बाहो की नर्माहट कही मिलती नहीं माँ  ,
मै तन पर लादे फिरता हूँ दुशाला रेशमी ,
लेकिन तेरी गोदी की गर्माहट कही मिलती नहीं माँ 




बहोत बुरा हो फिर भी उसको भला कहती है ,
अपना गन्दा बच्चा भी ''माँ''💗 दूध का धुला कहती है''









                       mom par shayari

सीधा साधा भोला भाला मै ही सबसे सच्चा हूँ ,
कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ ,
मै आज भी तेरा बच्चा हूँ 





maa shayari attitude

माँ की दुआ कभी खाली नहीं जाती ,
माँ की दुआ कभी टाली नहीं जाती ,
बर्तन मांज के भी तीन चार बच्चे पाल लेती है माँ ,
मगर तीन चार बच्चो से एक माँ पाली नहीं जाती 



किसी भी मुश्किल का अब कोई हल नहीं मिलता ,
शायद अब कोई घर से माँ के पैर छोकर नहीं निकलता। ... 




सबसे आगे रहकर भी क्या पा लेगा ज़िन्दगी में ,
 खुदको कितना नीचे गिरायेगा ऊपर बढ़ने की होड़ में ,
और ऊँचे ऊँचे महलो में भला वो कैसे आएगी ,
जो चैन की नींद आया करती थी माँ की गोद  में ''


maa par shayari 2021

ज़न्नत का लम्हा दीदार किया था ,
गोद में उठाकर जब ''माँ''💗 ने प्यार किया था 


सक कह रहे है आज माँ का दिन है ,
अरे वो कोन  सा दिन है जो माँ के बिन है 


सन्नाटा सा छा  गया बटवारे के किस्से में ,
जब ''माँ'''💗 ने पूछा में हूँ किसके हिस्से  में 

maa ki yaad shayari

जब जब मेने लिखा कागज़ पर ''माँ''💗 का नाम ,
कलम 🙏अदब से बोल  उठी, हो गए चारो 🙏धाम 


माँ से छोटा शब्द हो तो बताओ ,
उससे बड़ा भी कोई हो तो बताना 



अपनी आँख से  आसुओ  को  निकलते देखा है मैंने ,
ज़माने को पल भर में बदलते देखा है मैंने ,
जिन बेटो के खातिर माँ मांजती थी झूठे बर्तन ,
आज उसी माँ को सड़क पर भीख मांगते देखा है मैंने। 




किस्मत में जो लिखा है...✋ वो मंजूर नहीं मुझे  ,
मैं हाथ की लकीरो पर नहीं ,
'माँ''💗 बाप के  बताये रास्तो पर चलूँगा ...



मांग लू ये मन्नत की फिर यही ...💫जहां मिले ,
फिर वही गोद फिर वही ''माँ''💗 मिले ....


माँ कोई तेरी तरह हर कोई मेरी गलती माफ़ नहीं करता ,
आँसू तो हर कोई देते है मगर ,
माँ तेरी तरह कोई मेरे आँसू साफ़ नहीं करता 



 चलती फिरती आखो से अज़ान  देखी है ,
मैंने जन्नत तो नहीं है  माँ देखी है 


Latest Maa Shayari, Maa Shayari


उसकी गोद में जन्नत और 
कदमो में चारो धाम है ,
माँ ही मंदिर ,माँ ही मस्जिद ,
और ''माँ''💗 ही भगवान् है 


खुदा हर जगह मौजूद नहीं रह सकता ,
इसलिए उसने माँ को बनाया ---


ऐसा नहीं है ''माँ''💗 को बना कर खुदा ने जश्न मनाया ,
बल्कि सच तो ये है की वो भोत पछताया ,----

कब उसका एक -एक  जादू किसी और ने चुरा लिया ,
  खुदा जान भी ना पाया। . -----

खुदा का काम था मोहब्बत ,
वो माँ करने लगी '''----
खुदा का काम था हिफाज़त ,
वो ''माँ''💗 करने लगी '''---

 खुदा का काम था बरकत ,
वो भी माँ करने लगी ---

देखते ही देखते उसकी आखो के सामने ,
कोई और परवर देगार हो गया -----

वो बहोत मायूस हुआ बहोर पछताया ,
क्युकि खुदा माँ को बना कर ,
खुद बेरोज़गार हो गया ''''...... 





मै डरा नहीं सामने मौत खड़ी थी ,
पर मै क्यों डरता मौत से ,
मौत से पहले मेरी ''माँ''💗 खड़ी थी। 


 Best Maa Shayari


उसे खुद को सवारने की कहा फुरसत होती है ,
फिर भी ''माँ''💗 इस दुनिया में सबसे खूबसूरत होती है। 




हर ग़म को छुपा लेती थी ,
कभी रोती नहीं थी ,
याद है तुझे तेरे ज़रा से भुखार में ,
माँ रात भर सोती नहीं थी। 





अपनी ''माँ''💗 को कुछ हो
 ये सोच के लगता है मुझे डर ,
जब मौत लेने आएगी मेरी माँ को ,
उससे पहले मै चूम लूंगा उसका सर 



miss you maa shayari 


तकलीफ मुझे होती है ,
और वो पूरी रात नहीं सोती ,
कैसे बताऊ मै माँ के बारे में ,
वो शब्दों में बयां नहीं होती  




जब आँखे खुली थी तब पास में माँ थी ,
जब आँखे बंद हो तब भी पास में मा हो। 




अंश पंडित शायरी 
Ansh pandit shayari

ज़रा सी महँगी जो माँ कीदवाई हो गयी ,
 तीनो बेटो में जम कर लड़ाई हो गयी ,

तू रखेगा इसे कल मेरे साथ थी ,,
रात गुज़री तो ''माँ''💗 भी पराई हो गई ,

की अब है बच्चे मेरे मै भी बच्चा नहीं रहा ,
माँ से प्यारी तो यार लुगाई हो गई ,

काम धाम करती नहीं अब ये किस काम की ,
पहले अम्मा फिर दादी और अब दाई हो गई ,

हार रखूँगा मै और चूड़ी तुम बाट लेना ,
अरे माँ के जाने से पहले विदाई हो गई ,

स्टाम्प बनवा लिए की अब रहे ना रहे ,
अरे खून से महँगी स्याही हो गई। ...... 






'''माँ''💗 के लिए क्या लिखू ,
माँ ने तो खुद मुझे ही लिखा है 



कभी कभी बहोत रोने का मन करता है माँ ,
 कभी कभी तेरी गोद में सोने का मन करता है माँ ,

कभी कभी ये दुनिया छोड़ने का मन करता है माँ ,
कभी कभी तेरे हाथ से खाने का मन करता है माँ ,
कभी कभी तुझे गले लगाने का मन करता है माँ ,''''
     ---------  '' I LOVE YOU MAA''--------





''माँ''💗 जो बीटा छोड़ दे तुझे भटकने को ,
        उसकी कोई जात नहीं ,
फिर भी तू देती है उसे खुश रहने की दुआ ,
      इसमें कोई बड़ी बात नहीं ,
मै लिखना तो बहोत कुछ चाहता हूँ तेरे लिए ,
लेकिन  जब तूने खुद मुझे लिखा है ,
तो इससे ज्यादा तेरे ऊपर लिखने की,.. 
     ------ मेरी औकात नहीं ----------''


Post a Comment

0 Comments